Mangal dosh: कुंडली में मंगल दोष है, तो 7 सरल उपाय आपके लिए हैं-Skj News

https://skjnews.in/mangal-dosh-100112/

आपकी कुंडली में मगल दोस 1,4,7, और 12 से बनता है| जब किसी पर मंगल दोष लग जाया है, तो उसके बने बांये काम भी बिगड़ जाते है और कम में तरकी भी नहीं मिलती है|

अगर घर में मगल दोष हो तो पति-पत्नी के रिश्ते में खटास आ जाती है, घर की शुख सह्न्ति भी चली जाती है| आपके जीवनशाथी का जीवन में बहुत परेशानियाँ देखने को मिल सकती है|

Mangal dosh: आईये जानते है कुछ सरल उपाय 

  • लाल कपडे में सोंभ बंदकर अपने कमरे में रखनी चाहिये|
  • जब भी आप कोई नया घर बनवाये तो उसमे लाल पत्थर लगवाना चाहिए|
  • बंधुजनों को मिठाई का सेवन करवाने से भी मंगल शांत होता है|
  • पूरा लाल वस्त्र लेकर उसमें दो मुट्ठी मसूर दाल बांधकर मंगलवार के दिन किसी भिखारी या भूखे को दान करनी चाहिए। इससे भी मगल शांत रहता है|
  • मंगल वार के दिन हनुमानजी के चरणों से सिन्दूर लेकर उसे माथे पर लगाना चाहिए| इससे आपके मगल में काफी सुधार देखने को मिलेगा|

Mangal dosh

  • मगलवार के दिन बंदरो को गुड़ खिलाना चाहिए|
  • अपने घर में लाल रंग के फूल वाले पोधे लगाने चाहिए व उनकी देखभाल करनी चाहिए| रोजाना हनुमान जी लाल रंग का पुष्प भी भेंट करना चाहिए|
  • आपको मंगल के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटकों हेतु मंगलवार का दिन, मंगल का नक्षत्र, (मृगशिरा, चित्रा, धनिष्ठा) तथा मंगल की होरा शुभ होते हैं। इससे आपका मंगल शांत रहेगा

ये भी पड़े: iPhone 12 vs iPhone 11: जानें इन दोनों मोबाइल में क्या फर्क हैं

ये भी पड़े: मुंबई- TRP फर्जीवाड़े में 3 बड़े चैनलो का नाम, पुलिस कमिश्नर- दर्शकों ने बताया चैनल देखने के पैसे मिले

ये भी पड़े: Mangal dosh : कुंडली में मंगल दोष है तो 7 सरल उपाय आपके लिए हैं

  • लाल किताब में लिखा है, की अगर आपको मगल का दोष है तो विवाह के समय तंदूर की भठी जमीं में नहीं खोदनी चाहिए|
  • मगल जिस व्यक्ति पर होता है उसे मिट्टी का खाली पात्र चलते पानी में प्रवाहित करना चाहिए।
  • अगर आठवें खाने में मंगल पी‍ड़ित है तो किसी विधवा स्त्री से आशीर्वाद भी लेना चाहिए
  • किसी कन्या की कुंडली में अष्टम भाव में मंगल है, तो रोटी बनाते समय तवे पर ठंडे पानी के छींटे डालकर रोटी बनानी चाहिए।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here