गाजीपुर बॉर्डर पर भी बैरिकेडिंग, सिंघु-टिकरी बॉर्डर भी बंद, आप भी जाने दिल्ली में क्या है किसानो से ट्रेफिक का हाल

दिल्ली और दिल्ली के आसपास के इलाको में भीड़ से भूरा हाल है, दिल्ली की और लगातार किसान कुच कर रहे है. किसानो की भीड़ के कारन दिल्ली के ट्रेफिक पर बुरा असर देखने को मिल जायेगा.

आपको बता दे की अमित शाह ने किसानो से अनुरोध किया की वो बुराड़ी स्थित मैदान में इकठा हो जाये और उसके दुसरे ही दिन किसानी की बात सरकार द्वारा सुनी जाएगी. लेकिन किसानो का मानना है की बुराड़ी मैदान में इकठा होकर अपना आन्दोलन जारी रख सकते है. किसान नेताओ से जब इस बारे में बात हिकी आप उस बुराड़ी मैदान में क्यों नहीं इकठा हो रहे है. इस बारे में किसानो ने कहा की बुराड़ी जेल के साम दिखाई देता है.

किसानो का दिल्ली पर घेराव: हरियाणा और पंजाब की तरफ से आ रहे है हजारो किसान, सीमाए सील

बुराड़ी मैदान है एक जेल

किसान नेताओ से जब ये कहा गया की आप बुराड़ी में क्यों नहीं जा रहे है तो किसान नेताओ ने कहा की बुराड़ी एक जेल है और हम वहाँ नहीं जायेंगे. बुराड़ी जेल होने का मतलब ये समझ आ रहा है की वहां पर एक दरवाजा है और मैदान पूरी तरह से बंद नजर आता है. किसानो को दर है की अगर वो वहां पर जाते है तो उन्हें बहुत नुक्सान हो सकता है. साथ ही में किसान इस बात से भे दर रहे है की कहाँ उस बंद मैदान में ले जाने के बाद पूरी तरह से उन पर पुलिस और सेनाओ से घेर ना ले. ये ही कुछ बात है जो किसान वहां नहीं जाना चाहते है.

क्या है दिल्ली NCR में ट्रेफिक का हाल

अगर दिल्ली के ट्रेफिक की बात करे तो काफी परेशानी उठानी पड़ रही है. जहाँ किसान दिखाई दे रहे है वहाँ ट्रेफिक की लम्बी लाइने देखें को मिल जाएगी.

दिल्ली में क्या है किसानो से ट्रेफिक का हाल

किसान अभी भी अन्य अन्य जगहों से दिल्ली की और कुच कर रहे है एसे में सरकार को जल्दी कुछ फैसले लेने चाहिए और किसानो से बातचीत करके इसे सही करना चाहिये. क्योकि अगर दिल्ली का ट्रेफिक एक बार भी रुक जाता है, तो लम्बी लाइने देखने को मिल सकती है. जो सभी के लिए एक सर दर्द के सामान है. दिल्ली के ट्रेफिक की तजा तस्वीरे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here